ऊंचे पर्वतों पर बर्फबारी, मैदानों में बारिश शुरू

लोगों की मुश्किलें बढ़ी

प्रियंका चौहान
शिमला। सूबे में एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक प्रदेश के निचले भागों में गरज के साथ बारिश जबकि ऊंचे पर्वतों पर बर्फबारी का दौर जारी है। जिससे प्रदेश में ठण्ड बढ़ गई है। कबाइली इलाकों में ऊंची चोटियां एक बार फिर बर्फ से लकदक हो गई हैं। राजधानी समेत निचले इलाकों में बारिश हुई। वीरवार सुबह से ही मौसम खराब बना रहा। जो दोपहर तक कई क्षेत्रों में अंधड़ के साथ बरसात शुरू हो गई। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में प्रदेश में बारिश और बर्फबारी के आसार जताए हैं। शनिवार और रविवार को मौसम साफ रहेगा।
अब तक मिली सूचना के मुताबिक विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे पर करीब एक फुट बर्फबारी हो चुकी है जबकि कल्पा में आठ, मनाली के सोलंगनाला में 10 और जलोड़ी दर्रे में 10 से 15 सेंटीमीटर ताजा हिमपात रिकॉर्ड किया गया है। सिरमौर के चूड़धार में भी बर्फ गिरी है। लाहौल स्पीति, चंबा के पांगी और भरमौर में पिछले एक सप्ताह से बिजली, सड़क और दूरसंचार सुविधा से वंचित कई इलाकों में ताजा बर्फबारी से फिर दुश्वारियां बढ़ गई हैं। आज की बर्फबारी के चलते कई सड़कें  फिर बाधित हो गई हैं। वहीं लाहौल, किन्नौर और चंबा के ऊंचे इलाकों में हिमखंड गिरने का खतरा बना हुआ है।
बीती रात को न्यूनतम तापमान इस प्रकार रहा। लाहौल स्पीति के मुख्यालय केलांग में माइनस 6.8, कल्पा में माइनस 1.8, मनाली में 3.2, कुफरी में 3.0, धर्मशाला में 6.4 और प्रदेश की राजधानी शिमला में 7.2 डिग्री सेल्सियस रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here