शीत लहर की संभावना को लेकर एडवायजरी जारी : यूनुस

प्रियंका चौहान

शिमला। हिमाचल में जारी भारी बर्फबारी से पहाड़ी क्षेत्रों में दुश्वारियां और बढ़ गई हैं। प्रदेश के तमाम ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई, जिससे तापमान में भी गिरावट आई है। जिससे प्रदेश शीतलहर की चपेट में आ गया है। केलांग में न्यूनतम तापमान माइनस 9.8 डिग्री तक पहुंच गया है।
दूसरी ओर मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई जा रही है, जबकि मैदानी इलाकों में भारी बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की गई है। शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक मनीष राय ने बताया है कि 22 फरवरी के बाद प्रदेश में मौसम साफ रहने का अनुमान लगाया गया है, लेकिन अगले दो दिन लोगों को ठंड का प्रकोप झेलना पड़ेगा।
बीते दिनों हुई बर्फबारी के चलते बुधवार शाम तक प्रदेश में 225 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बंद रही। जबकि शिमला से रामपुर के लिए वाया नारकंडा एन एच पांच शुरू हो गया है। खराब मौसम को देखते हुए जिला प्रशासन कुल्लू ने आपदा प्रबंधन के साथ दो रेस्क्यू टीमों को अलर्ट पर रखा है। जिला में एचआरटीसी के करीब 40 रूटों पर असर पड़ा है। मौसम के खराब रुख को देखते हुए कुल्लू जिला प्रशासन ने एक बार फिर अलर्ट जारी किया है। उपायुक्त यूनुस ने बताया कि आज और कल जिला में खराब मौसम के चलते ठंडी हवाएं और शीत लहर के आसार हैं। रोहतांग सहित प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बुधवार को भी बर्फबारी का दौर जारी रहा। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में दिन भर बादल मंडराते रहे, लेकिन शाम को बारिश हुई।
न्यूनतम तापमान (डिग्री सेल्सियस में)
केलांग – 9.8
कल्पा – 4.2
कुफरी – 1.6
मनाली – 0.6
डलहौजी 0.8
शिमला 3.8
भुंतर 5.0 डिग्री सेल्सियस रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here