लगातार बर्फबारी से किन्नौर में फिर गिरा हिमखंड…रेस्क्यू आपरेशन रोका

कमलेश 
शिमला। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में भारत-तिब्बत सीमा से सटे दुर्गम क्षेत्र नमज्ञा में हिमखण्ड की चपेट में आए पांच जवानों को खोजने में खराब मौसम खलनायक बन गया है। गुरूवार को फिर से उसी स्थान पर दोपहर लगभग 12 बजे हिमखंड गिरा जहां जवान दबे थे। जवानों को खोजने में बर्फबारी से जवानों को भारी परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है और इसके चलते सेना ने मौसम साफ होने तक रेस्क्यू आॅपरेशन रोक दिया है। हालांकि सेना के आला अधिकारियों ने रेस्क्यू दल को तैयार रहने को कहा गया है।
बता दें कि बुधवार को हिमस्खलन में दबे छह सैनिकों में एक जवान की मौत हो गई है, जबकि 5 सैनिकों का अभी तक लापता है। इस घटना में सेना के पांच जवान भी घायल हो गए हैं। हिमस्खलन की चपेट में आए अन्य पांच जवानों में तीन हिमाचल, एक जम्मू और एक दार्जिलिंग का बताया जा रहा है। जवानों में हवलदान राकेश कुमार, विदेश चंद, गोबिंद बहादुर छत्तरी, राजेश रिशि, अर्जुन कुमार और नितिश राणा बताए गए है। शहीद जवान की पहचान हिमाचल के बिलासपुर के राकेश कुमार के रूप में हुई है। बर्फ में दबे जवानों को निकालने के लिए रेस्क्यू आॅपरेशन में आईटीबीपी के डेढ़ सौ से अधिक जवान और हिमाचल पुलिस के जवान शामिल हैं।
उधर, हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किन्नौर जिले के नामज्ञा डोगरी में हिमस्खलन की चपेट में आने से सेना के जवान की मौत पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सेना के जवानों को रेस्क्यू करने चलाए आपरेशन में हरसंभव सहायता उपलब्ध करवा रही है। मुख्यमंत्री ने उपायुक्त किन्नौर को सेना और आईटीबीपी प्रशासन के साथ लगातार संपर्क  बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here