सतलुज जल विद्युत निगम कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन के  वार्षिक सम्मेलन में मजदूरों ने दी चेतावनी

सम्मेलन  मे नाथपा, कोटला, झाकड़ी, बायल व आस पास के मजदूरों ने लिया हिस्सा

 झाकड़ी में हुए सम्मेलन में असंगठित क्षेत्र तक पहुच कर मज़दूरों को एक मंच में लाने की बनी रणनीति

स्वीटी मेहता
रामपुुर। देश की सब से बड़ी भूमिगत परियोजना नाथपा झाकड़ी मुख्यालय
झाकड़ी  में सतलुज जल विद्युत निगम कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन का  वार्षिक
सम्मेलन हुआ।  इस दौरान संगठन को मज़बूत करने और असंगठित क्षेत्र तक पहुंचकर उन्हें अपने साथ जोड़ते हुए आगे बढ़ने पर रणनीति बनी।   सम्मेलन  मे
कार्यरत नाथपा, कोटला, झाकड़ी, बायल व आस पास के क्षेत्र से आये मजदूरों
ने  हिस्सा लिया।  इस दौरान यूनियन नेताओ ने एसजेवीएन को एनटीपीसी में
मिलाये  जाने की स्थिति में बड़े आंदोलन की चेतावनी दी। सम्मेलन की
अध्यक्षता करते हुए सीटू जिला अध्यक्ष बिहारी सेवगी  ने बताया मज़दूर
किसान की हक़ से जुड़े 12 सूत्रीय मांग पत्र सरकार को ज्ञापन दिया गया है।
आने वाले समय में जो राजनैतिक पार्टी इन मुद्दों को चुनावी घोषणा पत्र से
जोड़ती है, उस का साथ दिया जाएगा।  उन्होंने कहा सीटू  का प्रयास है की
असंगठित क्षेत्र तक पहुंच कर उन्हें अपने साथ जोड़े व्  जागरूक करे ।

बिहारी सेवगी ने बताया की सतलुज जल विद्युत निगम कांट्रेक्ट
वर्कर यूनिय का साल में एक बार सम्मेलन किया जाता है , जिस में चुनावी
प्रक्रिया भी होती है। इस में हमे केंद्रीय कमेटी सीआईटीयू का और राज्य
कमेटी के निर्देशानुसार दिए गए दिशा निर्देशों को  जमीनीस्तर  तक पहुंचना
है।
मज़दूर नेता नरेंद्र देष्टा ने बताया एसजीवीएन का एनटीपीसी में विलय के विरोध में संगठन जोरदार विरोध करती आ रही है।  आगे भी इस का विरोध होगा। इस के अलावा मज़दूरों की विभिन्न समस्याओ और मांगो को भी प्रभावी तरिके से सामने रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here