पुलिस ने जाल बिछाकर तीन शातिरों को रंगे हाथ दबोचा….20 से 25 हजार रुपए में करते थे सौदा

आदर्श हिमाचल ब्यूरो
शिमला। हिमाचल पुलिस को फर्जी डिग्री मामले में बड़ी कामयाबी मिली है। एचपीयू की फर्जी डिग्रियां बेचने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। ये लोग 20 से 25 हजार रुपए में फर्जी डिग्री, मार्कशीट, सर्टिफिकेट और डिप्लोमा बेचते थे। पुलिस ने तीनों आरोपियों से मौके पर एचपीयू की ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की तीन फर्जी डिग्रियां भी बरामद कीं।
जानकारी के अनुसार पुलिस को नाहन के एक वकील ने सूचित किया था कि शिमला में कुछ शातिर मोटी रकम ऐंठ कर जाली डिग्रियां बेचने का काम कर हैं। इस पर पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और ग्राहक बनकर तीन आरोपियों को बीती रात दस बजे लिफ्ट के पास दबोचा लिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान जय देव, सुनील और सौरभ के रूप में हुई है और ये तीनों ठियोग के बड़ोग गांव के रहने वाले हैं।
दरअसल नाहन के वकील के एक रिश्तेदार को इन आरोपियों ने एचपीयू की डिग्रियां देने का झांसा दिया था। मामले के अनुसार एक आरोपी ने खुद को एचपीयू का कर्मचारी बताया और 20 से 25 हजार में डिग्रियां दिलाने का भरोसा दिया और पैसे लेकर मिलने के लिए शिमला बुलाया। इस पर शिकायतकर्ता का माथा ठनका और जब एचपीयू प्रशासन से संपर्क किया गया तो खुलासा हुआ कि डिग्री दिलाने वाला आरोपी एचपीयू में कार्यरत ही नहीं हैं। इसके बाद मामला की सूचना पुलिस को दी गई और पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। डीएसपी हेड क्वार्टर प्रमोद शुक्ला ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि इस संबंध में आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here