सरकार का यह रवैया लोकतंत्र की हत्या और व्यक्ति विशेष के मताधिकार का हनन-डाॅ. तंवर

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 

शिमला:- भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) ने शिमला नगर निगम के तहत सांगटी वार्ड के उप चुनावों में सरकार द्वारा सरकारी मुलाज़िमों को डराने धमकाने की कोशिश करने की कड़े शब्दों में निन्दा की है। पार्टी की ओर से वार्ड चुनाव प्रचार के प्रभारी और सीपीआईएम राज्य सचिवमण्डल के सदस्य डाॅ. कुलदीप सिंह तंवर ने प्रैस बयान जारी करते हुए कहा कि भाजपा की प्रदेश सरकार सांगटी वार्ड में रहने वाले सरकारी मुलाज़िमों को भाजपा द्वारा समर्थित प्रत्याशी को वोट डालने का दबाव बना रही है

डाॅ. तंवर ने कहा कि यह सरेआम लोकतंत्र की हत्या है और व्यक्ति विशेष के मताधिकार का हनन है। माकपा नेता ने कहा कि एक मुलाज़िम को दस दस फोन किए जा रहे हैं और उन्हें मानसिक प्रताड़ना दी जा रही है। डाॅ. तंवर ने कहा कि इतने स्थानीय स्तर के चुनावों में सरकार का हस्तक्षेप बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार के इस कृत्य से साबित होता है कि वे बाज़ी हार चुकी है इसलिए ऐसे हथकण्डे अपना रही है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर लोगों के सामाजिक रिश्ते होते हैं लेकिन सरकार के दबाव में उन्हें अपनी मर्जी से वोट देने तक की भी आज़ादी न हो तो यह स्वस्थ लोकतंत्र के लिए घातक है।

डाॅ. तंवर ने कहा कि वाम शासित राज्यों में कभी सरकार द्वारा कर्मियों को चुनाव के लिए प्रताड़ित नहीं किया गया। वहां तबादला नीति बनी हुई है और चुनावों में खुलकर काम करने वाले मुलाज़िमों की चुनाव के बाद बदली नहीं की जाती। डाॅ. तंवर ने कहा कि हम प्रदेश में भी तर्कसंगत तबादला नीति बनाने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार चुनावों मं मुलाज़िमों को अपने वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए तबादला नीति नहीं बनाना चाहती।

डाॅ. तंवर ने सांगटी वार्ड में रहने वाले सरकारी मुलाज़िमों से अपील की है कि वे निर्भय होकर मतदान करें। अगर किसी मुलाज़िम को चुनाव के बाद प्रताड़ित किया गया तो सीपीआईएम इसके विरोध में लड़ाई लड़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here