कुल्लू, चंबा और लाहौल स्पीति प्रशासन ने अर्लट किया जारी……आने वाले तीन दिन पड़ेगें भारी

सरकार ने बर्फबारी से निपटने को तैयार रहने के दिए निर्देश

शिमला। ताजा पश्चिमी विक्षोभ के चलते हिमाचल में एक बार फिर मौसम ने करवट बदली है। रविवार को जनजातीय जिले लाहौल स्पीति, किन्नौर और चंबा जिले के पांगी और भरमौर की पहाड़ियों पर बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। रोहतांग में शाम तक 30 सेंटीमीटर बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है। मढ़ी में 20 सेंटीमीटर, कोकसर में 2 सेंटीमीटर और सोलंगनाला और जलोड़ी दर्रे में फाहे गिरने से मौसम ठंडा हो गया है। जिससे प्रदेश एक बार फिर ठंड की चपेट में आ गया है। इधर, मौसम विभाग ने आने वाले तीन दिन प्रदेश के लिए भारी पड़ेगें। इस अवधि के दौरान प्रदेश भर में बारिश जबकि मध्य और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। यह सिलसिला 25 जनवरी तक जारी रहने की संभावना जताई है। हांलाकि प्रदेश के राजधानी में आसमान पर बादल छाय रहे और कभी भी बारिश हो सकती है। उधर मनाली के साथ निचले इलाकों में बारिश का दौर शुरू हो गया है और चंबा के पांगी भरमौर की ऊपरी चोटियों पर भी हल्का हिमपात हुआ है।
उधर, खराब मौसम को देखते हुए कुल्लू, लाहौल और चंबा जिले में अलर्ट जारी कर दिया है। संवेदनशील इलाकों में लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी है। लाहौल में हिमखंड गिरने की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने लोगों को सतर्क कर दिया है। प्रदेश सरकार ने जिला प्रशासन को बर्फबारी से निपटने के तैयार रहने के निर्देश दिए हैं।

ये रहा न्यूनतम तापमान

प्रदेश में जहां अधिकतम तापमान में 1 से 2 डिग्री की कमी आई है, वहीं बीती रात को लाहौल स्पीति के मुख्यालय केलांग में न्यूनतम पारा शून्य से 3.5 नीचे रिकार्ड किया गया। इसके साथ ही कल्पा में शून्य से 0.6 डिग्री रहा जबकि मनाली में 3.4, कुफरी में 3.8, डलहौजी में 5.1, शिमला में 7.5, भुंतर 6.7 और धर्मशाला में 6.0 डिग्री सैल्सियस रिकार्ड किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here