ओलावृष्टि के साथ बारिश और बर्फबारी का अनुमान

प्रियंका शर्मा 
शिमला। कड़ाके की ठंड  से गुजर रहे हिमाचल प्रदेश में आज धूप खिलने से लोगों ने राहत की सांस ली है। वहीं प्रदेश में बुधवार से एक बार फिर मौसम करवट बदलने जा रहा है, जिससे मैदानी इलाकों में ओलावृष्टि और पहाड़ों पर बर्फबारी होने की संभावना है।
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने इस संदर्भ में चेतावनी भी जारी कर दी है। ऐसे में प्रदेश के मैदानी इलाकों में भारी ओलावृष्टि और पहाड़ों पर 31 जनवरी को भारी बर्फबारी होगी। विभाग का पूर्वानुमान है कि प्रदेश में 30 जनवरी से लेकर 2 फरवरी तक मौसम खराब बना रहेगा। इस दौरान बारिश-बर्फबारी होने से तापमान में भारी गिरावट आने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में माह के आखिर में प्रदेश वासियों को एक बार फिर से कड़ाके की ठण्ड का प्रकोप झेलना पड़ेगा। हांलाकि तीन फरवरी को मौसम साफ रहेगा ।
बीते चौबीस घंटे में प्रदेश के सात क्षेत्रों का न्यूनतम तापमान माइनस में रहा। यहां तक कि सोलन का न्यूनतम तापमान भी माइनस में आ गया है। इन क्षेत्रों के न्यूनतम तापमान पर गौर करें तो भुंतर माइनस 1.0, कल्पा माइनस 9.2, केलांग माइनस 16.2, सोलन माइनस 0.4, मनाली माइनस 5.8, डलहौजी माइनस 0.6 और कुफरी माइनस 3.8, शिमला में 0.8, सुदंरनगर 0.0, चंबा 0.1, ऊना में 1.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हांलाकि मंगलवार को राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। जिसका पर्यटकों ओर लोगों ने खिली धूप का आनंद भी लिया।
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया ताजा पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से 30 और 31 जनवरी को प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी और मैदानों में ओलावृष्टि के साथ बारिश होगी। उन्होंने बताया कि दो और तीन फरवरी को मैदानी और मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा और ऊंचाई वाले स्थानों में बर्फबारी होने की संभावना बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here