अभिभावकों ने की व्यापारीकरण पर अंकुश लगाने की मांग

शिक्षा मंत्री ने दिये निजी स्कूलो पर जांच के आदेश

अभिजोत

सोलन। लोकसभा चुनाव की सुगबुहाट के बीच गुंजता निजी स्कूलों मे व्यापारीकण का मुद्दा अब राजनैतिक रंग लेने लगा है। इस से पूर्व जो भाजपा नेता निजी स्कूलो की मनमानी पर आंखे मूदें बैठे थे, अब वह भी इस समस्या में अभिभावको के साथ खडे नजर आ रहे है व इस मामले पर उचित जांच की मांग कर रहे है। गौरतलब है की स्थानीय नेता राजेश कश्यप ने शिक्षा मंत्री से निजी स्कूलो मे शिक्षा के व्यापारीकरण पर अंकुश लगाने की मांग की।

 वही शिक्षा मंत्री ने भी शिक्षा अधिकारियों को उचित जांच के निर्देश दिये । निजी स्कूलों की मनमानी से जहां एक और अभिभावकों मे खासा रोष है, अभिभावक एकजुट होकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आरपार की लड़ाई की तैयारी में है। इस गम्भीर मामले पर सोलन से भाजपा नेता राजेश कश्यप बिते दिन शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्धाज से मिले और निजी शिक्षण संस्थानो की फीस वृद्धि व वार्षिक शुल्क बढ़ौतरी के बारे में चर्चा की।

शिक्षामंत्री ने शिक्षा अधिकारियों को जांच करने के निर्देश दिये। भाजपा नेता राजेश कश्यप ने बताया कि सोलन मे पिछले कई दिनो से विभिन्न निजी स्कूलो में शिक्षा के व्यापारीकण पर लोग सडको पर उतर गये है, व स्कूल प्रबंधन पर भड़क गये है तथा वार्षिक शुल्क न दने पर अड़े है। उन्होनें बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार की गाईडलाईन के अनुसार यदि गाइडलान को निजी स्कूल नहीं मानते तो उनकी मान्यता भी रद् की जा सकती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here