अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे ये महामिलावटी दल देश के मतदाताओं को भ्रमित करने का कर रहे प्रयास  

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 
हमीरपुर सांसद श्री अनुराग ठाकुर ने लोकसभा चुनावों में विपक्षी दलों के नेताओं द्वारा हार को सामने देखते हुए तरह तरह के झूठ फैलाने और प्रोपेगंडा के ज़रिए देश के मतदाताओं को भ्रमित करने की बात कही है।
अनुराग ठाकुर ने कहा”जैसे जैसे मई महीने की 23 तारीख़ पास आ रही है, विपक्षी दलों को अपनी पराजय सामने दिख रही है। हार को सामने देखते हुए कांग्रेस पार्टी और सहयोगी दल अब झूठ के ज़रिए भय का वातावरण खड़ा करने में जुट गए है। अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे ये महामिलावटी दल तरह तरह के प्रोपेगंडा के माध्यम से देश के मतदाताओं को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं।कल पहले चरण के मतदान में भारी संख्या में जनता की भागीदारी देख कर वोट बैंक की राजनीति करने वाले दलों के पैर से ज़मीन खिसक गई है और अब इसमें के कोई ईवीएम का रोना रो रहा है,कोई भाजपा सरकार बनने पर देश में कभी चुनाव ना होने की बात कर रहा है तो कोई अपनी जान को ख़तरा बता कर देशवासियों की सहानुभूति हासिल करने का प्रयास कर रहा है”
आगे बोलते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा”कल कांग्रेस पार्टी ने देश वासियों को भ्रमित करने के लिए एक और झूठ बोल कर सनसनी फैलाने का प्रयास किया मगर हमेशा की तरह थोड़ी ही देर में उनके झूठ का पर्दाफ़ाश हो गया।कांग्रेस ने जिसे ‘ग्रीन लेज़र’ बताकर राहुल गाँधी की जान पर ख़तरे की आशंका जताई उसको गृह मंत्रालय ने कांग्रेस के ही एक फ़ोटोग्राफ़र के मोबाइल की ‘ग्रीन लाइट’ बताकर ख़ारिज़ कर दिया।कांग्रेस पार्टी ने देखा की जब देश उनके झाँसे में नहीं आ रहा तो अब वो झूठा डर दर्शा का सहानुभूति के माध्यम से वोट बटोरना चाह रही है।
 अनुराग ठाकुर ने कहा”कांग्रेस पार्टी झूठ की ठेकेदार है जिसमें इनके केंद्रीय नेतृत्व से लेकर स्थानीय नेता शामिल हैं।इनके नेताओं ने कई भ्रामक प्रचार व झूठे कैंपेंनों के ज़रिए देश की एकता और अखंडता को चोट पहुँचाते हुए लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया है।हिंदू आतंकवाद का शातिर सिद्धांत यूपीए के शासनकाल में गढ़ा गया और इसे बढ़ाने का काम उस वक्त के कांग्रेसी मंत्रियों और नेताओं ने किया।यह सिद्धांत जिहादी आतंकवाद से ध्यान हटाने के लिए गढ़ा गया था।यह साजिश आतंकवाद पर भारत के उदार प्रवृत्ति वाले बहुसंख्यक लोगों को एक बुरा नाम देने के लिए रची गई थी मगर हाल ही में एनआईए कोर्ट ने स्वामी असीमानंद व अन्य तीन लोगों को समझौता एक्सप्रेस केस से बरी कर कांग्रेस के इस झूठे अभियान की पोल खोल कर उसे बेनक़ाब करने का काम किया है”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here