चंद्रभागा नदी का बहाव रूका, बनी झील

प्रशासन ने दरिया किनारे न जाने की दी हिदायत

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। बीते दिनों भारी बर्फबारी के बाद हिमाचल में धूप खिलने से जनजीवन सामान्य हो रहा है। प्रदेश में शनिवार को मौसम आम तौर पर साफ रहा, जिससे लोगों को प्रचंड ठंड से कुछ राहत मिली है। केलंग से मिली जानकारी के मुताबिक साफ मौसम के बावजूद लाहौल स्पिति में हिमस्खलन का सिलसिला जारी है। थिरोट के पास डिमरू नाले में हिमस्खलन से चंद्रभागा नदी का प्रवाह रूक गया है और एक झीन बन गई है। उपायुक्त अश्वनी कुमार चौधरी ने लोगों को नदी किनारे न जाने की सलाह दी है। उन्होंने लोगों को थिरोट से नीचे दरिया किनारे न जाने और पुल पार करते हुए एहतियात करतने को कहा है। चंबा जिले में भी पिछले दिनों हुए हिमपात के बाद जनजीवन पूरी तरह पटरी पर नहीं लौट पाया है। पिछले तीन दिन से बिजली आपूर्ति ठप्प है और एक सौ 76 सड़कें अवरूद्ध है। उपायुक्त हरिकेश मीणा ने कहा कि विजली आपूर्ति सुचारू बनाने के प्रयास किए जा रहा है। पथ परिवहन निगम की 26 बसें विभिन्न स्थानों पर फंसी हुई है और एस तरह सड़क बंद होने पर 59 बस रूट प्रभावित हुए है। भरमौर में सूंकू टपरी नामक स्थान पर भारी हिमस्खलन हुआ है। इस हिमस्खलन ने लोक निर्माण विभाग के स्टोर को भी अपनी चपेट में लिया। स्टोर के हिमस्खलन की चपेट में आने से लोक निर्माण विभाग की मशीनरी और वाहन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इससे विभाग को एक करोड़ रुपए के करीब का नुकसान झेलना पड़ा है। बीते चौबीस घंटों में डलहौजी में 16 सेंटीमीटर हिमपात हुआ है जबकि कल्पा में चार, जुब्बल और खदराला में तीन और कुफरी में एक सेंटीमीटर बर्फ गिरी है। इधर, राजधानी शिमला सहित राज्य के निचले इलाकों में दिन भर धूप खिली रही। रोहड़ू, रामपुर और शिमला में बसों का लोकल परिचालन आरंभ कर दिया गया है। शिमला से रामपुर बसें वैकल्पिक मार्ग से चलाई जा रही हैं और ठियोग से कोटखाई भी यातायात परिचालन सुचारू किया गया है। उपायुक्त अमित कश्यप ने मशोबरा से बेखल्टी सड़क को भी वैकल्पिक मार्ग की दृष्टि से खोलने के लिए पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिये। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान मौसम आमतौर पर साफ रहने की संभावना जताई है।
मण्डी में 110 सड़के बहाल
उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि मंडी जिला में भारी बर्फवारी के कारण प्रभावित आम जनजीवन को सामान्य बनाने के लिए प्रशासन सभी संबंधित विभागों के साथ मिलकर तीव्र गति से कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि जिला में कई हिस्से बर्फवारी से प्रभावित हुए हैंक जिला की कुल 154 सडकें बर्फवारी से बंद हो गई थी, जिनमें से 110 सड़कें यातायात के लिए बहाल कर दी गई हैं।
ये रहा तापमान
बीती रात प्रदेश में विभिन्न शहरों में न्यूनतम तापमान इस प्रकार रहा। केलंग में माइनस 14.0 डिग्री, कल्पा माइनस 7.2, मनाली माइनस 5.0, डलहौजी माइनस 2.3, कुफरी माइनस 3.5 डिग्री जबकि शिमला में 0.8, चंबा और सुंदरनगर 0.1, सोलन और भुंतर 1.4, पालमपुर 1.0 और मंडी में न्यूनतम पारा 1.1 डिग्री सेल्सियस रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here