ढूंढने पर भी पूजने के लिए नहीं मिल रही कंजके 

आज लोगों को पता चल  रहा बेटियों का महत्व

शास्त्रों के अनुसार कन्या पूजन से मिलते  है बहुत अच्छे लाभ 

अभिजोत 
सोलन। नवरात्रों के पावन अवसर पर नवरात्र के आठवें दिन अधिष्ठात्री देवी महागौरी की पुजा और नौवें दिन नवम सिद्धिदत्री देवी भगवती के नौवें स्वरूप माता सिद्धिदत्री  देवी की एक साथ पूजा से  समापन होगा । माता के 9 रूपों में रामनवमी के अवसर पर सोलन के शूलिनी मंदिर में आज प्रातः से ही मां के चरणों मे अपना शीश नवाने के लिए सुबह से ही श्रद्धालू अपनी बारी का इन्तजार करते नजर आए।
श्रद्धालुओं द्वारा मन्दिर में भजन कीर्तन भी किया गया। लोगों ने माता के दर्शनकर कन्या पूजन किया। कन्याओं को लाल चुनरी एवं प्रसाद भेंट किया गया। शास्त्रो के अनुसार कन्या पूजन करने से बहुत अच्छे फल की प्राप्ति होती है लोगो द्वारा सुबह से ही छोटी छोटी कन्याओ की तलाश में इधर उधर घूमते  देखा गया। कुछ लोगो को घरो के आसपास कंजके न मिलने के चलते मंदिर परिसर में हीउन्होंने कंजको कोकी पूजा की । आज लोगो को लड़कियों की अहमियत का भी पता चला की अगर लडकिया नहीं होगी तो कन्या पुजन भी नहीं होगा।
शूलिनी मंदिर में भगतो का कहना है की नवरात्रो में रखे गए व्रत का फल  जब हम कंजको की पूजा करते है। लेकिन आज  छोटी छोटी कन्याओ का मिलना बहुत मुश्किल होता है लोग मंदिर में ही  कंजको का पूजन करते है.लोगो को घरो  आसपास छोटी कन्याये मिलना मुश्किल होता है । उन्होंने कहा की आज पता चलता है की  महत्व  कितना होता है। उन्होंने कहा की बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ का महत्व उन्हें आज पता चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here