आगरा में शहीद हुए हिमाचल का जवान….सैन्य अस्पताल ले जाते समय हुई मौत

कांगड़ा के अमित आगरा में ले रहे थे पैराट्रूप ट्रेनिंग

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

आगरा। शिमला। उत्तर प्रदेश के आगरा में पैराशूट नहीं खुलने से हिमाचल के रहने वाले एक सैनिक की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक पैराट्रूपर अमित कुमार आगरा में ट्रेनिंग ले रहे थे। छह हजार फीट की ऊंचाई से कूदने के दौरान उनका पैराशूट नहीं खुला जिसके चलते वे सीधे जमीन पर आ गिरे। उन्हें सेना के जवान तुरंत सैन्य अस्पताल ले गए लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
शहीद जवान की पहचान अमित कुमार पुत्र शक्ति सिंह के रूप में हुई। वे कांगड़ा के नगरोटा बगवां स्थित भुसाल गांव के रहने वाले थे। कांगड़ा कलेक्टर ने इस घटना की पुष्टि की है। इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है। 27 साल के अमित आगरा के मलपुरा ड्रोपिंग जोन में पैराजंप की ट्रेनिंग ले रहे थे। गुरुवार को जहाज एएन-32 से उन्होंने करीब छह हजार फीट की ऊंचाई से छलांग लगाई थी। गुरुवार को शहीद हुए अमित के शव का पोस्टमार्टम शुक्रवार को हुआ। अब उन्हें दिल्ली से पठानकोट ले जाया गया। शनिवार सुबह उनका शव उनके पैतृक गांव ले जाया जाएगा।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक एक साल में पैराशूट न खुलने के चलते यह तीसरा हादसा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक तीनों ही बार जवान रिजर्व पैराशूट का भी इस्तेमाल नहीं कर पाए। इससे पहले नवंबर 2018 में 26 साल के हरदीप सिंह 11.5 हजार फीट की ऊंचाई से कूदे थे और पैराशूट न खुलने की वजह से उनकी मौत हो गई। मार्च 2018 में पलवल के रहने वाले 25 वर्षीय पैरा कमांडो सुनील सहरावत की भी पैराशूट न खुलने के चलते गिरने से मौत हो गई थी।

loading...