Saturday, September 26, 2020
aadarshhimachal@gmail.com

जयराम सरकार ने राम भरोसे छोड़ी प्रदेश की जनता, कोरोना से निपटने में नाकाम सरकार ने खोले बॉर्डर-मुकेश अग्निहोत्री

बोले, सरकार ने खड़े किए हाथ, अब जनता खुद रखे अपना ख्याल

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्रीनेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री
Share This News

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 

शिमला। विधानसभा के मानसून सत्र के आठवें दिन विपक्ष कैबिनेट के बार्डर खोलने के फैसले को लेकर नाराज नजर आया। प्रश्नकाल और ध्यानाकर्षण प्रस्तव पर विपक्ष ने सरकार से कैबिनेट के इस फैसले पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जब हिमाचल में कवल एक मौत थी तब हिमाचल की सीमाएं सील कर दी गई थी जबकि अब सौ मौतों पर  और दस हजार से अधिक सक्रिय मामलों के बीच हिमाचल की सीमाएं खोलने को मंजूरी दे दी गई है। उन्होंने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा किअभी तक जयराम के भरोसे रही जनता को सरकार ने राम भरोसे छोड़ दिया है।

उन्होंने कहा कि कोरानो से निपटने में केंद्र व प्रदेश दोनों सरकारें विफल रही हैं। अब  सरकार ने  हाथ खडे़ कर दि ए हैं और प्रदेश की जनता को अब अपना ध्यान खुद रखना होगा।  हो गए हैं। कहा कि हमें मालूम है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेशों का पालन किया जाना है। पर्यटन उद्योग और हिमाचल की आर्थिक दशा को भी ठीक करना है। ऐसे में प्रदेश की सीमाएं खोली गई हैं। अब प्रदेश को कैसे चलाएंगे। इस बारे में स्थिति स्पष्ट की जानी चाहिए। उन्होंने कैग रिपोर्ट की किताबें भी विपक्ष को नहीं देने को लेकर विरोध जताया। कहा कि कैग ने जयराम सरकार के कामकाज को लेकर पहली रिपोर्ट दी है। इसमें कई कुप्रबंधनों का उल्लेख है। सरकार ने इन किताबों को गोल कर दिया है। सिर्फ सीडी पकड़ा दी गई है। कैग रिपोर्ट की विस्तृत किताबें सभी विधायकों को मुहैया करवानी चाहिए।

 

Aadarsh Himachal