नितिन राणा के मोबाइल मिलने से जगी उम्मीद की किरण…….

सेना ले रही है स्थानीय लोगों और पुलिस प्रशासन की मदद……

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। ग्लेशियर में दबे 5 जवानों के आज मिलने की संभावना जताई जा रही है। ग्लेशियर में दबे नितिन राणा के मोबाइल मिलने से उम्मीद की किरण जग गयी है। इसके लिए सेना ने वहां के स्थानीय लोगों से भी मदद लेनी शुरू कर दी है तथा इसके साथ ही बीआरओ की छोटी पोकलेन भी बर्फ हटाने के कार्य में जुटी है। अब देखकर ऐसा लगता है कि सेना को ग्लेशियर में दबे जवानों को बाहर निकालने में सफलता मिल सकती हैं । ग्लेशियर एक्सपर्ट भी सेना के साथ जाकर जवानों को बाहर निकालने में हर तरह से सहायता करने को तैयार है तथा बीआरओ के छोटे बुलडोजर भी बर्फ को हटाने का कार्य कर रहे है।

गौरतलब है कि भारत तिब्बत सीमा के समीप दोगरी स्थान पर 20 फरवरी को ग्लेशियर के खिसकने से सेना के 5 जवान दफन हो गए थे। इसके अलावा सेना ने पुलिस प्रशासन , बीआरओ, आईटीबीपी तथा स्थानीय लोगों को उस स्थान पर जाने की सख्त मनाई की थी , लेकिन बुधवार को सर्च आपरेशन के दौरान सेना को नितिन राणा का मोबाइल मिला है जिससे आज 5 जवानों के मिलने की संभावना है। सेना ने स्थानीय लोगों एवं प्रशासन की मदद लेनी भी शुरू कर दी है। आर्मी भी स्नो कटर के माध्यम से बर्फ हटाने के लिए सदैव प्रयासरत रही है। बताया जा रहा है कि ग्लेशियर लगभग 600 नीचे तक गया है। जिससे सेना को सैनिकों को खोजने में कठिनाई हो रही थी। परंतु अब सेना के सामने नितिन राणा के मोबाइल मिलने से उम्मीद की किरण जगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here