एक साथ नहीं मिलेगा आयुष्मान और हिमकेयर योजनाओं का लाभ: परमार
नूरपुर के विधायक राकेश पठानिया ने संकल्प लिया वापिस

देविंदर सिंह
शिमला। हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार ने हिमकेयर स्वास्थ्य बीमा योजना में राज्य की जनता को दोहरा लाभ देने की बात कर रही है। गुरुवार को विधानसभा में प्राइवेट मेंबर-डे के दौरान स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने अपने जवाब में कहा कि प्रदेश में पांच से अधिक सदस्य वाले परिवार के लोगों के अब दो से अधिक हिमकेयर स्वास्थ्य बीमा कार्ड बनेंगे। प्रदेश में अभी इस योजना के तहत एक ही कार्ड बना कर दिए जाते है और इसमें पांच सदस्यों का पांच लाख रूपए तक का बीमा कवर की सुविधा प्रदान की जा रही है। परिवार के हर सदस्यों को इस योजना में कवर किया जा सके इसलिए सरकार ने दो कार्ड बनाने का निर्णय लिया है। स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने राकेश पठानियां द्वारा गैर सरकारी सदस्य संकल्प दिवस पर हेल्थ केयर इंश्योरेंस पॉलिसी को लेकर लाए गए प्रस्ताव पर चर्चा के बाद ये बात कही। मंत्री ने बताया कि प्रदेश में लोगों को आयुष्मान और हिमकेयर दोनों योजनाओं का लाभ एक साथ नहीं मिलेगा। लोगों को एक ही योजना का लाभ मिलेगा, लेकिन जहां पर पांच से अधिक सदस्य होंगे वहां पर लोगों के दो कार्ड बना कर दिए जाएंगे। लोगों को इस कार्ड का लाभ पाने के लिए 365 रूपए देने होंगे। स्वास्थ्य संस्थानों के अलावा यह कार्ड लोकमित्र केंद्रों में 30 रूपए का शुल्क दे कर आसानी से बना सकते है। इसके लिए सरकार समय समय पर लोगों को जागरूक कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां पर केंद्र सरकार की तर्ज पर पांच लाख रूपए की बीमा कवर स्कीम को शुरू किया गया है। नुरपुर के विधायक राकेश पठानिया ने स्वास्थ्य बीमा योजनाओं पर संकल्प प्रस्ताव लाया। उन्होंने कहा कि योजनाएं बेहतर हैं, लेकिन लोगों तक इसकी जानकारी नहीं पहुंच रही है। स्वास्थ्य मंत्री के जवाब से संतुष्ट विधायक राकेश पठानिया ने अपना संकल्प वापस लिया।

आयुष्मान में 195 अस्पतालों का पंजीकरण

स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने बताया कि प्रदेश में 195 पंजीक्रत अस्पतालों में लोगों को स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत इलाज करवाने का लाभ मिलेगा। इसी के साथ प्रदेश के 35 निजी अस्पताल इस सेवा का लाभ प्रदान करने के लिए अधिकृत किए गए हंै। आयुष्मान योजना के तहत 1800 बीमारियों के इलाज को शामिल किया गया है। प्रदेश में 12 फरवरी 2019 तक इस योजना में 2 लाख 69 हजार लोगों को पंजीकृत किया गया है जबकि इसमें से 5336 लोगों के इलाज पर 5 करोड 71 लाख रूपए खर्च किए गए है। इसके अलावा गंभीर लाइलाज बीमारी के लिए सरकार ने सहारा योजना शुरू की है।

31 मार्च तक हिमकेयर से जुडेंगे पांच लाख परिवार

स्वास्थ्य मंत्री परमार ने बताया कि राज्य सरकार ने 31 मार्च 2019 तक हिमकेयर योजना से जोडने का लक्ष्य तय किया है।; अभी तक इस योजना से प्रदेश में दो लाख 88 हजार परिवार को कवर किया गया है। इसमें से 17 हजार 800 लोगों के इलाज पर दो करोड 84 लाख रूपए खर्च किए गए है। मंत्री ने बताया कि इस योजना का लाभ लेने के लिए एकल नारी, आगंनबाडी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा वर्कर, मीड-डे वर्कर, सभी दिहाडीदार, अंशकालीन कार्यकर्ता इस योजना में शामिल किया गया है। उन्होंने विधायकों से अपील करते हुए कहा कि वह अपने क्षेत्रों में दोनों योजनाओं का प्रचार करे ताकि अधिक लोगों को लाभ मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here