नोडल अधिकारियों की समीक्षा बैठक में बोले उपायुक्त…जिले के सीमाओं पर अतिरिक्त चौकसी बरते पुलिस

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 
शिमला। जिला निर्वाचन अधिकारी शिमला राजेश्वर गोयल ने लोकसभा निर्वाचन-2019 के लिए नियुक्त विभिन्न नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि चुनाव का सम्पूर्ण कार्य भारत के निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार पूर्ण किया जाए। राजेशवर गोयल आज यहां निर्वाचन के संबंध में नोडल अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
राजेशवर गोयल ने सभी सहायक निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला के विभिन्न स्थानों पर उनके कार्य क्षेत्र में ईवीएम तथा वीवीपैट मशीनों के सुरक्षित भण्डारण के लिए स्थापित स्ट्राॅंग रूम की सुरक्षा में कोई कोताही न बरती जाए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में निर्वाचन आयोग द्वारा जारी प्रक्रियाओं का पालन सुनिश्चित हो।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि निर्वाचन से संबंधित विभिन्न कार्यों के लिए गठित उड़नदस्ते नियमित निरीक्षण एवं औचक निरीक्षण करें, ताकि यदि कहीं कोई त्रुटि पाई जाए तो उस पर अविलम्ब कार्यवाही की जाए। उन्होंने पुलिस को जिला की सीमाओं पर पर्याप्त चैकसी बरतने के निर्देश भी दिए।
उन्होंने कहा कि निर्वाचन के संबंध में सभी सहायक निर्वाचन अधिकारियों को शिमला जिला के साथ लगते अन्य राज्यों के जिलों के अपने समकक्ष अधिकारियांे तथा पुलिस अधिकारियों के साथ सीमा स्तरीय बैठक आयोजित करनी आवश्यक है। इस बैठक में सीमा सुरक्षा एवं निर्वाचन के संबंध में सूचनाओं का आदान-प्रदान एवं आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे।
राजेशवर गोयल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि चुनाव के लिए परिवहन एवं संचार योजना तैयार कर उस पर पूर्ण अमल किया जाए। उन्होंने कहा कि जिला के विभिन्न मतदान केंद्रों पर निर्वाधित आवाजाही एवं संचार व्यवस्था के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाए। उन्होंने बीएसएनएल को निर्देश दिए कि जिला के मतदान केंद्रों तथा राजकीय महाविद्यालय धामी सहित शैडो क्षेत्रों में संचार व्यवस्था में सुधार के लिए सभी तकनीकी आवश्यकताएं पूरी की जाएं।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि मतदान के लिए 19 मई, 2019 को सभी मतदान केंद्रों पर आवश्यक न्यूनतम सुविधाएं उपलब्ध होनी चाहिए। उन्होंने शारीरिक रूप से दिव्यांग मतदाताओं के लिए सभी प्रबंध सुनिश्चित बनाने के निर्देश भी दिए।
उन्होंने कहा कि स्वतंत्र एवं भयरहित चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता का पालन सभी के लिए आवश्यक है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आदर्श आचार संहिता के संबंध में कोई कोताही न बरती जाए और शिकायत मिलने पर त्वरित कार्यवाही की जाए।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त एवं आदर्श आचार संहिता, स्वीप, वैब कास्टिंग तथा सी-विजिल की नोडल अधिकारी देवाश्वेता बनिक, पुलिस अधीक्षक ओमापति जमवाल, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी प्रोटोकाॅल एवं श्रम शक्ति प्रबंधन के नोडल अधिकारी नरेश ठाकुर, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एवं परिवहन प्रबंधन के नोडल अधिकारी भूपेन्द्र अत्री, सहायक आयुक्त एवं प्रशिक्षण के नोडल अधिकारी निशांत ठाकुर, उपमंडलाधिकारी रोहड़ू बीआर शर्मा, उपमंडलाधिकारी ठियोग एमडी शर्मा, उपमंडलाधिकारी चैपाल अजीत भारद्वाज, उपमंडलाधिकारी रामपुर नरेन्द्र चौहान, उपमंडलाधिकारी शिमला शहरी नीरज चांदला, उपमंडलाधिकारी कुमारसैन चेतना, जिला सूचना अधिकारी एवं कम्प्यूटरीकरण के नोडल अधिकारी पंकज गुप्ता, आबकारी एवं कराधान उप आयुक्त टाशी कटोच, जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति नियंत्रक एवं चुनाव सामग्री प्रबंधन के श्रवण कुमार, जिला पर्यटन उप निदेशक सुरेन्द्र कुमार जस्टा, तहसीलदार निर्वाचन राजेन्द्र शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here