डलहौजी, कोकसर में हिमपात, शेष प्रदेश से टूटा पांगी का संपर्क

पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानी इलाकों में झमाझम बारिश ने गिराया तापमान

0
126
डलहौजी, कोकसर में हिमपात, शेष प्रदेश से टूटा पांगी का संपर्क
डलहौजी, कोकसर में हिमपात, शेष प्रदेश से टूटा पांगी का संपर्क
 आदर्श हिमाचल ब्यूरो
धर्मशाला। जिला कांगड़ा में बुधवार के मौसम के बदले तेवरों ने एकाएक ठंड बढ़ा दी है। बुधवार को जिले के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश व ओलाववृष्टि हुई है। बैजनाथ क्षेत्र में ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान पंहुचने की सूचना है। शाम को जिला चंबा के पर्यटन स्‍थल डलहौजी में दो से तीन इंच तक हिमपात हो गया। अचानक बर्फबारी होते देखकर पर्यटक चहक उठे। बर्फबारी व बारिश के बाद समूचे प्रदेश में ठंड बढ़ गई है। दुर्गम क्षेत्र पांगी में भी भारी बर्फबारी हुई है, इस कारण उपमंडल का प्रदेश से संपर्क कट गया है। उधर आलोवृष्टि से पक कर खेतों में खड़ी धान की फसल को भारी नुकसान हुआ है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के विशेषज्ञों ने आज प्रदेश के कुछ स्थानों में बारिश की संभावना जताई थी।
यह भी पढ़ें: एचआरटीसी बस ने कुचला स्कूटर सवार, 50 मीटर तक घसीटा, हालत बेहद गंभीर
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के चंबा जिले के डलहौजी के लक्कड़मंडी में पांच साल बाद अक्तूबर में बर्फबारी हुई है। पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानी इलाकों में हो रही झमाझम बारिश के कारण प्रदेश में तापमान में लुढ़क गया है, जिस कारण ठंड बढ़ गई है। मध्य क्षेत्रों में बारिश से हिमाचल में चार डिग्री पारा लुढ़क गया है। हिमाचल से कल मानसून विदा होगा। इस साल सामान्य से पांच फीसदी बादल कम बरसे हैं।डलहौजी के लक्कड़मंडी में दो से तीन इंच तक ताजा बर्फबारी हुई है। अचानक बर्फबारी होते देखकर पर्यटकों के चेहरे खिल उठे। वहीं लाहौल स्पीति जिले के कोकसर में भी ताजा बर्फबारी हुई है।मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक प्रदेश में 10 अक्तूबर से मौसम साफ रहने के आसार हैं। शिमला, कुल्लू, मंडी व कांगड़ा के कुछ इलाकों में बारिश हुई है। चोटियों पर बर्फबारी भी हो रही है। बैजनाथ में ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। बर्फबारी व बारिश के बाद समूचे प्रदेश में ठंड बढ़ गई है।वहीं शहर में देवदार के पेड़ों से झड़ रहे पोलन से भी राहत मिली है। बीते एक सप्ताह में देवदार के पेड़ों से काफी पोलन गिर रहा था जिससे कई लोग बीमार हो रहे थे।
loading...