देश के सभी छोटे और सीमांत किसानों के लिए पेंशन योजना शुरू करेगी भाजपा 

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 
      शिमला संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप ने भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी आज अपने संकल्प पत्र को देश के विकास का पत्र बताया है। शिमला के धामी में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प में कहा है कि देश के सभी छोटे और सीमांत किसानों के लिए पेंशन की योजना शुरू की जाएगी ताकि 60 वर्ष की आयु पार करने के बाद किसानों की सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि यही नहीं कृषि क्षेत्र की उत्पादकता को बढ़ाने के लिए 25 लाख करोड़ रूपए का निवेश किया जाएगा ताकि हर छोटे से छोटे किसान को लाभ मिल सके उन्होंने कहा कि इससे कृषि योग्य भूमि की उत्पादकता बढे़गी और निश्चित रूप से किसान सुदृढ़ होंगे और उनकी आर्थिकी भी सुदृढ़ होगी।
सुरेश कश्यप ने कहा कि किसानों के लिए ब्याज मुक्त किसान क्रेडिट कार्ड बनाकर उन्हें 1से 5 वर्ष के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज पर एक लाख रूपए तक के नए अल्पावधि कृषि ऋण मूल राशि के समय पर भुगतान की शर्त पर प्रदान करना किसानों के लिए बहुत बड़ा सहारा होगा। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में सुनिश्चित किया गया है कि किसानों के लिए जोखिम कम हो और उन्हें बीमा की सुरक्षा मिले। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत स्वेच्छिक पंजीकरण का प्रवाधान किया गया है। कृषि आयात में कमी लाने और अनुमान योग्य कृषि निर्यात व आयात नीति बनाने कि दिशा में भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में जो बात कही है उससे उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा दिया जाएगा और आयात को कम करने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि अगले 5 वर्षों में पहाड़ी, आधिवासी और जहां-जहां वर्षा के ऊपर आधारित खेती की जाती है ऐसे क्षेत्रों में 20 लाख हेक्टयर अतिरिक्त भूमि पर रसायन मुक्त जैविक खेती को प्रोत्साहन देने का संकल्प जो भाजपा ने लिया है वह निश्चित रूप से किसानों की आय दुगनी करने में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में उपभोक्ताओं को जैविक उत्पादों को पहुंचाने के लिए एक सर्मिप्त ई-कॉमर्स पोर्टल शुरू करने और गोशालाओं को जैविक खेती के प्रोत्साहन के साथ जोड़ने बात भी कही है।  उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में जो-जो किसानों के लिए प्रावधान और सुविधाएं मुहिया करवाने का संकल्प लिया है उससे निश्चित रूप से 2022 तक किसानों की आय दुगनी हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here