सभी स्कूलों से माँगा उनका वितीय लेखा जोखा 

अभिजोत 

सोलन मे  निजी स्कूलों की मनमानी और फीस वृद्धि की मिल रही शिकायतों के बाद शिक्षा विभाग अब एक्शन मोड़ में नजर आ रहा है। अभिभावकों द्वाराशिक्षा विभाग को की गई शिकायतों के मध्यनजर आज उच्च शिक्षा उपनदेशक योगेंदर मखैक ने सभी  स्कूलों की मीटिंग बुलाई । जिसकी सुचना  विभाग द्वारा सभी निजी स्कूलों को मीटिंग की सूचना दी गई थी इसके बावजूद केवल 21 स्कूल के पदाधिकारियों ने ही बैठक में भाग लिया और अपने अपने स्कूल के वितीय लेखा जोखा पेश किया।  जबकि 14 स्कूलों  ने विभाग के निर्देशों की अनदेखी की। स्कूलों की गैरहाजरी को देखते हुए उपनिदेशक सुर्ख नजर आये और बैठक में भाग न लेने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की बात कही। वही उन्होंने कहा की स्कूल प्रबंध को वही अध्यापक स्कूलों में रखने चाहिए जो सभी शर्ते पूरी करते हो उन्होंने कहा की मैनेजमेंट को भी अध्यापको को को पूरी सैलरी देनी चाहिए। उन्होंने स्कूल मैनेजमेंट से अपील की की वह जितनी फीस वृद्धि कर रहे है उसका हिस्सा भी अध्यापकों की तनख्वाह में लगाया जाए । ताकि छात्रों को अध्यापक में लगाकर अच्छी शिक्षा दे।उन्होंने कहा की मजबूरी में अगर कोई अध्यापक आपके पास काम कर रहा है तो उसकी मजबूरी का फायदा ना उठाये । क्योकि अगर अध्यापक खुश नही तो कभी स्कूल का फायदा नही हो सकता ।  उन्होंने मैनेजमेंट से स्कूलों के अकोउन्ट को चार्टेड अकोउन्ट से  ऑडिट करवाने की बात भी कही ।उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा की आज तक अभिवावक स्कूल के  साथ थे लेकिन अब आपके साथ नही है जो की चिंता का विषय है। उन्होंनेस्कूल  प्रबंधन से अभिभवकों से पैसे के लेनदेन में पारदर्शिता बनाये  रखने की बात कही 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here