हिमाचल में चालू वित्त वर्ष में विकास दर 7.3 रहने का अनुमान

कृषि क्षेत्र में करीब 9 प्रतिशत

कमलेश

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, जिनके पास वित्त विभाग भी है, ने शुक्रवार को विधानसभा सदन में वर्ष 2018-19 का आर्थिक सर्वेक्षण प्रस्तुत किया किया। जिसके मुताबिक राज्य में चालू वित्त वर्ष के दौरान विकास दर में 7.3 की वृद्धि रहने का अनुमान है। प्रति व्यक्ति आय 1,76,968 रहने का अनुमानित आंकी गई है।
उन्होंने बताया कि गत वर्ष में, राज्य का सकल घरेलु उत्पाद 1,25,122 करोड़ वर्ष 2016-17 से बढ़कर 1,36,542 करोड़ हो गया और अगामी अनुमानों के अनुसार, इस वित्त वर्ष में राज्य का सकल घरेलु उत्पाद 1,51,835 करोड़ होने की संभावना है। इसी प्रकार प्रदेश में जमा उधार अनुपात 30 सितंबर 2018 को 47.46 हैं, जो राष्ट्रीय प्रति शाखा जनसंख्या औसत 11,000 की तुलना में राज्य की 3,209 है।
वित्तीय वर्ष 2018-19 में नवम्बर तक 4,230.42 करोड़ रुपए का राजस्व जुटाया गया। इसी प्रकार इस अवधि में अखिल भारतीय थोक मूल्य सूचकांको में मुद्रास्फीति की दर 4.64 प्रतिशत दर्शाई गई है। जबकि राष्ट्रीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में 2.31 प्रतिशत की वृद्धि रही। प्रदेश में 18,32,389 राशन कार्ड धारकों को 4,918 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध करवाई जा रही है। 166 गैस डीलर, 415 पैट्रोल पम्प और 26 थोक मिट्टी के तेल विक्रेता कार्य कर रहे हैंै।
इधर, कृषि क्षेत्र की बात करे तो राज्य सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 9 प्रतिशत है। वर्ष 2016-17 में खाद्यानों का उत्पादन 15.63 लाख मीट्रिक टन की तुलना में गत वर्ष तृतीय अनुमानों के अधार पर प्रत्याशित खाद्यानों का उत्पादन 15.31 लाख मीट्रिक टन हुआ जबकि वर्ष 2018-19 में 16.69 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्य है। इस अवधि में फल उत्पादन कुल 4.06 लाख टन हुआ जो वर्ष 2017-18 में 5.65 लाख टन आंका गया। इसमें सेब का उत्पादन 3.60 लाख टन था जबकि इससे पिछले वर्ष में 4.47 लाख टन हुआ था, जो करीब 79 फीसदी आंका गया है।
प्रदेश में, इस समय 522 मध्यम व बडेÞ उद्योग और लगभग 49,058 लघु पैमाने की इकाईयां कार्यरत है।
अकुशल श्रेणी के श्रमिकों को न्यूनतम मजदूरी 210 प्रतिदिन से बढा कर 225 रुपये प्रतिदिन कर दी गई है। राज्य के रोजगार पंजीकृत कार्यालयों में दिसंबर तक तक 8,49,981 बेरोजगार पंजीकृत किए गए।

10,547 मैगावाट का विद्युत का दोहन 

सीएम ने कहा कि जहां तक प्रदेश में 27,436 मैगावाट अनुमानित विद्युत क्षमता का 10,547 मैगावाट का विभिन्न अभिकरणों द्वारा दिसम्बर, 2018 तक दोहन कर लिया गया है जोकि कुल क्षमता का 38.44 प्रतिशत है। प्रदेश में 10,308 गांव सड़कों से जोडे गए। निगम के बेड़े में 3,078 बसें, 25 इलैक्ट्रिक बसें, 21 टैक्सियां और 50 इलैक्ट्रिक टैक्सियां 2,869 मार्गों पर प्रतिदिन 6.35 लाख कि.मी. की दूरी तय कर रही है।

164.50 लाख पर्यटकों ने किया हिमाचल भ्रमण

गत वर्ष प्रदेश में 164.50 लाख पर्यटकों ने आगमन किया जो कि राज्य की जनसंख्या का 2.4 गुणा है। इस वर्ष के दौरान, 89 चिकित्सालयों, 91 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, 580 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रोें, 16 ई.एस.आई. डिसपैंसरी तथा 2,085 उपकेंद्रो के माध्यम से स्वास्थ्य व परिवार कल्याण सेवाएं प्रदान की जा रही है और अन्य निजी संस्थाएं भी सेवाएं प्रदान कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here