सेना पुलिस और प्रशासन के कई अधिकारियो की मौजूदगी में विदेश के भतीजे ने दी मुखाग्नि

23 दिन बाद ग्लेशियर से मिला था विदेश चंद का शव

 

विशेषर नेगी

रामपुर। भारत-तिब्बत सीमा के साथ लगते किन्नौर जिला के नामज्ञा डोगरी नामक स्थान पर गत 20 फरवरी को ग्लेशियर की चपेट में आर्मी के 6 जवान आए थे। दो जवानों की खोज ग्लेशियर के बीच जारी थी । वीरवार को 23वें दिन ग्लेशियर में दफन दोनों जवानों के शव खोज लिए गए, जिन में रामपुर के समीप कुल्लू ज़िला के निरमण्ड तहसील के खरगा निवासी नायक विदेश चंद पुत्र ईश्वर दास व जम्मू कश्मीर के ग़ांव कटल तहसील हीरानगर ज़िला कठुआ निवासी रायफल मैन अर्जुन कुमार पुत्र काकू राम शामिल है।

       विदेश चंद का पार्थिव शरीर आज सुबह उन के गाँव थरुआ पहुंचाया गया। इस दौरान सैनिक सम्मान के साथ आनी विधायक किशोरी लाल ए सेना के पूह स्थित ब्रिगेड कमांडर एलएस लीडर तथा अन्य सेना के अधिकारियो समेतए प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियो ने विदेश चंद को पुष्पांजलि अर्पित की।

सेना के ब्रिगेड कमांडर ब्रिगेडियर एलएस लीडर ने इस दौरान विदेश के परिजनों से भी मुलाक़ात की और विदेश के पिता के पैर छूकर उन्हें अपना बड़ा बेटा समझने और इस दुःख की घड़ी में हौंसला रखने के लिए कहा। साथ ही आपा खो रही विदेश की पत्नी नीता को भी हौंसला दिया। इस के बाद गार्ड ऑफ़ आर के साथ अंतिम विदाई दी गई। सेना पुलिस और प्रशासन के कई अधिकारियो की मौजूदगी में विदेश चंद को उनके भतीजे ने मुखाग्नि दी।

आनी के विधायक किशोरी लाल ने बताया कि बड़े दुःख की बात है कि उनके क्षेत्र से संबंध रखने वाले सैनिक की ग्लेशियर में दब कर मौत हुई है। सेना और सरकार के लगातार प्रयासों से विकट परिस्थियों में लगातार प्रयासों से 23 दिन बाद विदेश चंद का शव मिला है। उन्होने कहा कि सरकार की ओर से भी हर संभव प्रयास किया जाएगा की विदेश के परिजनों की मदद की जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here