अमित शाह कर गए हैं अनुराग को बड़ा नेता बनाने को वादा

विधानसभा चुनावों में पिता की हार का बदला लिया रिकार्ड जीत से

44 की उम्र में चौथें चुनाव में 4 लाख से अधिक मतों से की जीत दर्ज

अनुराग बोले, हमीरपुर संसदीय क्षेत्र की जनता के आशीर्वाद,स्नेह और विश्वास पर कभी नहीं आने दूंगा आंच

देविंद्र सिंह

शिमला। लोकसभा चुनावों में लगातार चौथी बार जीत दर्ज करवा जहां अनुराग ठाकुर ने अपने सबी राजनीतिक विरोधियों की बोलती बंद कर दी है तो वहीं उनकी इस एक जीत के कई मायने भी निकाले जा रहे हैं। अनुराग ठाकुर लगातार जीत का चौका लगा देश की संसद में पंहुचे हैं। उनके विरोधियों ने जहां शुरू की दो जीत को उनके पिता की झोली में डाला था तो वहीं 2014 की जीत का श्रेय मोदी लहर ले गई थी। लेकिन इस बार रिकार्ड मतों से अनुराग ठाकुर की लगातार चौथी जीत ने उनका सियासी कद बढ़ा दिया है।

अब वे केंद्र में मंत्री बनने की दौड़ में अव्वल हैं। बिलासपुर में आयोजित अमित शाह की रैली में अमित शाह पहले ही साफ कर गए थे कि अनुराग ठीकुर की यह जीत उन्हें केंद्र में कद्दावर नेताओं की पंक्ति में शामिल करवा देगी।

इससे पहले अनुराग ठाकुर सबसे लोकप्रिय सासंद के तौर पर भी पहचाने जाते हैं। उनका सरल व हंसमुख स्वभाव सभी को उनका मुरीद बना देता है। उनकी लगातार अपने संसदीय क्षेत्रों में निगरानी, मोबाईल हेल्थ वैन जैसे प्रयासों ने उन्हें जनता के और करीब लाया।

भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके अनुराग ठाकुर वर्तमान में भाजपा के मुख्य सचेतक भी हैं। उल्लेखनीय है कि अनुराग को हमीरपुर संसदीय क्षेत्रों की 17 विधानसभाओं में मिली लीड ने आज तक के सारे पिछले रिकार्ड तोड़ डाले।

उनकी इस जीत में निसंदेह उनेक पिता प्रो. प्रेम कुमार धूमल का भी बहुत बड़ा हाथ है। उन्होंने दिन-रात अनुराग के लिए हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में काम व प्रचार किया। अनुराग की इस जीत ने उनकी 2017 विधानसभा में हुई हार का भी बदला ले लिया है। आज अनुराग ठाकुर ने रांजेंद्र राणा के विधानसभा हलके से ही 38 हजार स अधिक की लीड लेकर अपनी पिता की हार का बदला भी साथ ही ले लिया।

अनुराग के इस चुनाव में सबसे खास बात रही नंबर चार का फेर। उनके लिए नंबर 4 काफी लक्की साबित हुआ। उन्होंने अपेन फेसबुक वाल से यह बात शेयर करके लिखा भी कि 44 साल की उम्र में चौथा चुनाव हमीरपुर संसदीय क्षेत्र की जनता ने चार लाख से अधिक मतांतर से जिताकर उनकी जीत को ऐतिहासिक बना दिया। अपनी जीत के लिए जनता का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि, हमीरपुर संसदीय क्षेत्र की जनता के आशीर्वाद,स्नेह और विश्वास पर कभी आंच नहीं आने दूंगा। ”