जुबानी जंग के बाद अनिल शर्मा ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा…भाजपा सदस्यता बरकरार

मुख्यमंत्री ने स्वीकार किया इस्तीफा…बोले…शिमला जाकर देखेंगे इस्तीफे में क्या लिखा

प्रियंका चौहान

शिमला। आखिर मंडी संसदीय सीट पर धर्मसंकट में फंसे भाजपा मंत्री अनिल शर्मा ने अपे मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि उनकी भाजपा सदस्यता बरकरार रहेगी। एक लंबी जद्दोजहद और वाक युद्द के बाद शुक्रवार को अनिस शर्मा ने अपना मंत्री पद त्याग दिया है और मुख्यमंत्री ने भी उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।  मुख्यमंत्री ने कहा है कि वे शिमला जाकर देखेंगे कि अनिल शर्मा ने अपने इस्तीफे में क्या लिखा है।

उल्लेखनीय है कि उनके बेटे आश्रय को मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस ने भाजपा के निर्वतमान सांसद राम स्वरूप शर्मा के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा है। भाजपा के अंदर बैचेनी जहां सुखराम व वीरभद्र सिंह की जुगलबंदी को लेकर थी तो वहीं मुख्यमंत्री के अपने ही गृह जिले से ऐसी बगावत की उम्मीद किसी को नहीं थी। अनिल शर्मा ने माना कि वे अपने बेटे के कारण धर्मसंकट की स्थिति में है और इस सब के लिए उन्होंने भाजपा को दोष दिया था। उनका कहना था कि पहले उनके बेटे आश्रय ने भाजपा से ही टिकट की मांग की थी लेकिन जब उसे कोई तवज्जों पार्टी ने नहीं दी तो आश्रय व सुखराम ने कांग्रेस का दामन थाम लिया था।

अनिल शर्मा और भाजपा के बीच चलती रही जुबानी जंग

एक तरफ अकेले अनिल शर्मा तो दूसरी तरफ पूरी भाजपा। काफी दिनों से भाजपा ने अपने ही मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था और उन पर लगातार इस्तीफे का दबाव बनाया जा रहा था। इसी सब के बीच मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व अनिल शर्मा के बीच जुबानी जंग तीखई हो गई थी। जहां अनिल शर्मा ने ऊर्जा मंत्री के पद को भाजपा का पकड़ाया झुनझुना बताया तो मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके सीने में कई राज दफन हैं जो न ही सामने आए तो ठीक है। अनिल शर्मा ने मुख्यमंत्रई पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि नेता बाई चांस बनते है लेकिन नेता बनने में समय लगता है। इसी का जवाब मुख्यमंत्री ने दिया था कि जो मंत्री अपने मुख्यमंत्री को नेता मानने को ही तैयार नहीं, ऐसे में साफ जाहिर है कहीं न कहीं दाल में कुछ काला है।

अब देखना होगा कि अनिल शर्मा की घुटन क्या मंत्री पद से ही इस्तीफा देने से खत्म हो जाएगी या वो भाजपा से भी बाहर आने का रास्ता खोजेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here