रिज मैदान में हिमाचल दिवस पर फहराया गया राष्ट्रीय ध्वज….

धूमधाम से मनाया गया 72 वां हिमाचल दिवस….

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से दिखी हिमाचल की झलक….

मलखम्भ रहा राज्य स्तरीय समारोह का मुख्य आकर्षण…..

आज ही के दिन 30 छोटी-बड़ी पहाड़ी रियासतों के विलय के साथ आया था अस्तित्व में ….

गठन के बाद सबसे तेज गति से विकास किया है हिमाचल प्रदेश ने….

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। राजधानी के ऐतिहासिक रिज मैदान में आज हिमाचल दिवस के मौके पर आचार्य देवव्रत ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर सभी प्रदेश वासियों को बधाई दी । 72वां हिमाचल दिवस पूरे प्रदेश में उल्लास और उमंग के साथ मनाया गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी भी ली। इसमें पुलिस उप अधीक्षक शक्ति सिंह ने परेड का नेतृत्व किया और पुलिस, होमगार्ड, भारत स्काउट एण्ड गाइड तथा एनसीसी के कैडे्स ने मार्च पास्ट प्रस्तुत किया।

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि राज्य की समृद्ध संस्कृतिए उच्च परम्पराएं और असीम प्राकृतिक सौंदर्यए देव भूमि की विशिष्ट पहचान है। सुन्दर पहाड़ी प्रदेश आज ही के दिन 30 छोटी-बड़ी पहाड़ी रियासतों के विलय के साथ अस्तित्व में आया था। राज्य की वास्तविक शक्ति यहां के ईमानदार, कर्मठ और विकासशील लोग हैं तथा यहां शांतिपूर्ण वातावरण व सामाजिक सौहार्द कायम है, जो इसे अन्यों से अलग पहचान देता है।

आचार्य देवव्रत ने कहा कि अस्तित्व में आने के बाद इस छोटे से पहाड़ी प्रदेश ने तेज़ी से विकास का सफर तय किया। उन्होंने कहा कि इस छोटे से पहाड़ी प्रदेश ने बहुत कम संसाधनों के साथ विकास का यह सफल शुरू किया था और आज हिमाचल प्रदेश देश भर में पहाड़ी विकास का अग्रदूत एवं आदर्श राज्य माना जाता है।
राज्यपाल ने कहा कि युवा शक्ति राष्ट्र की सम्पत्ति हैं अतः जागरूक युवा ही देश को सशक्त कर विकास के पथ पर अग्रसर कर सकते हैं। युवाओें को सार्थक ढंग से राष्ट्र की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए ठोस प्रयास करने होंगे। उन्होंने इस बात पर चिंता व्यक्त की कि देश के अनेक युवा नशे की गिरफ्त में हैंए जो देश के भविष्य के लिए घातक संकेत है। उन्होंने कहा कि नशे के विरूद्ध सभी को मिलकर कार्य करना होगा ताकि युवाओं को नशे के कुप्रभावों के बारे में जागरूक किया जा सके।
उन्होंने इस अवसर पर प्रदेश के उन महान सपूतों व सुपुत्रियों के प्रति अपना सम्मान व कृतज्ञता व्यक्त की जिन्होंने हिमाचल के निर्माण और विकास में योगदान दिया है। उन्होंने प्रदेश के उन महान स्वतन्त्रता सेनानियों को भी नमन किया जिन्होंने देश को स्वाधीन बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। साथ ही देश के लिए असंख्य कुर्बानियां देने वाले शहीदों को भी श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने देश के गौरव की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। उन्होंने कहा कि इन वीर सेनानायकों के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजली यही होगी कि हम शपथ लें कि हमारा हर कार्य राष्ट्रहित में हो और पूर्ण ईमानदारी के साथ स्वच्छ समाज के निर्माण में सहयोग करें।
इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। इस बार के कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण गुरुकुल कुरुक्षेत्र से आए करीब 50 विद्यार्थियों द्वारा मलखम्भ और योग की प्रस्तुति थी। बच्चों की इस प्रस्तुति की लोगों ने सराहना की। इस मौके पर जिला मतदान कार्यालय द्वारा प्रस्तुत की गई लघु नाटिका, जिसमें लोगों को मतदान के लिए जागरूक किया गया, भी आकर्षण का केंद्र रही।
मुख्य सचिव बीण्के अग्रवाल, पुलिस महानिदेशक एसण्आर मरडी, अतिरिक्त मुख्य सचिव, सचिव तथा प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी व अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here