शिमला में पानी की आपूर्ति के लिए 10 एमएलडी पानी चाबा से कराया जाएगा उपलब्ध 

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला.अतिरिक्त मुख्य सचिव पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन राम सुभग सिंह ने मंगलवार को राज्य में ग्रीष्म पर्यटन सीजन की व्यवस्था की समीक्षा के लिए संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की अध्यक्षता की। शिमला होटल एसोसिएशन के सदस्यों ने भी इस बैठक में भाग लिया। राम सुभग सिंह ने कहा कि इस वर्ष पानी की कोई कमी नहीं है इसलिए पिछले वर्ष की तरह शिमला में इस बार पानी की समस्या की कोई सम्भावना नहीं है। इसके अलावा शिमला में पानी की आपूर्ति के लिए 10 एमएलडी पानी चाबा से उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने सम्बन्धित प्राधिकारियों को गर्मी के मौसम में उचित और नियमित रूप से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। शिमला शहर में यातायात नियंत्रण के नियमों पर जोर देते हुए राम सुभग सिंह ने पुलिस विभाग और जिला प्रशासन से कहा कि शहर और नजदीकी पर्यटन स्थलों में यातायात को सुचारु बनाए रखने के लिए उचित कदम उठाएं ताकि पर्यटकों और स्थानीय नागरिकों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण और राज्य लोक निर्माण विभाग को सड़क के किनारों से निर्माण सामग्री हटाने के निर्देश दिए।उन्होंने गर्मी के मौसम के दौरान शिमला में भारी यातायात की समस्या को ध्यान में रखते हुए मैहली व भेखलटी बाईपास को सक्रिय बनाने और पार्किंग स्थलों की जानकारी उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कुफरी और नालदेहरा जैसे पर्यटन स्थलों तक पहुंचने के लिए पर्यटकों को उचित दिशा-निर्देश देने के लिए बोर्ड और डिजिटल मॉनिटर स्थापित करने के भी निर्देश दिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने पर्यटकों की सुविधा के लिए पर्यटन विकास निगम को पर्यटन सीजन के दौरान रात 11ः30 बजे तक लिफ्ट को कार्यशील रखने के भी निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त बैठक में पर्यटकों के मनोरंजन के लिए मॉल पर चयनित स्थलों पर सांस्कृतिक संध्याएं, लोक संगीत व बैण्ड शो आदि आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया। होटल व्यवसायियों ने गर्मियों के पर्यटन सीजन के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए अपने सुझाव भी दिए। निदेशक पर्यटन अमित कश्यप, उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल, शिमला नगर निगम के आयुक्त पंकज रॉय, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के निदेशक हरबंस सिंह ब्रसकोन व विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी इस बैठक में उपस्थित थे।
.0.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here