जिला के 7.77 लाख मतदाता करेंगे मताधिकार का प्रयोग : ऋग्वेद ठाकुर

3-3 उड़नदस्ते रखेंगे आचार संहिता से जुड़े मामलों पर नजर 

1123 मतदान केन्द्रों में से 82 संवदेनशील, 24 अति संवदेनशील

‘सी-विजिल’ से रखेंगे से नजर

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 

मंडी: मंडी जिला प्रशासन ने जिला में लोकसभा का स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिप्रिय चुनाव संपन्न करवाने को लेकर सभी प्रबंध सुनिश्चित बनाने के लिए कमर कस ली है। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने सोमवार को उपायुक्त कार्यालय सभागार में पत्रकारों के साथ वार्ता में लोकसभा चुनाव प्रक्रिया के सुचारू संचालन के लिए जिला प्रशासन की तैयारियों का विस्तृत ब्यौरा सांझा किया। इस मौके अतिरिक्त जिलादंडाधिकरी श्रवण मांटा भी उनके साथ उपस्थित रहे। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जिला में आदर्श चुनाव आचार संहिता की कड़ाई से पालना तय बनाई जा रही है। लोकसभा चुनाव के दौरान शत-प्रतिशत मतदान सुनिश्चित करने के लिए व्यापक स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं।

ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि इन चुनावों में जिला के लगभग 7 लाख 77 हजार मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें महिला और पुरूष मतदाताओं की संख्या लगभग बराबर है, हालांकि अभी की सूची के अनुसार महिला मतदाता पुरूषों से संख्या में थोड़ी सी अधिक हैं। महिला मतदाताओं की संख्या 3 लाख 88 हजार 310 और पुरूष मतदाताओं की संख्या 3 लाख 88 हजार 286 है। इसके अलावा जिला के 11 हजार 110 सर्विस वोटर पंजीकृत किए गए हैं। इसके अलावा साढ़े सात हजार से अधिक नए मतदाताओं के पंजीकरण के लिए आवेदन मिले हैं।पात्र लोग 19 अप्रैल तक मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं। किसी कारण पंजीकरण से छूट गए पात्र युवा मतदाताओं का नाम दर्ज करने के लिए विशेष प्रयास किए जाएंगे।

1123 मतदान केन्द्रों में से 82 संवदेनशील, 24 अति संवदेनशील

उन्होंने कहा कि चुनाव कार्यक्रम के दृष्टिगत सुरक्षा का समुचित प्रबंध किया गया है। उन्होंने कहा कि जिले में 1123 मतदान केन्द्रों में से 82 संवदेनशील और 24 अति संवदेनशील मतदान केन्द्र हैं। निर्वाचन कार्य में लगभग 6300 कर्मचारियों की आवश्यकता होगी। लोकसभा चुनाव को सम्पन्न करवाने के लिए अधिकारियों व कर्मचारियों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए कर्मियों का डाटा एकत्रित किया जा रहा है। जिलाभर के आहरण एवं वितरण अधिकारियों के माध्यम से उनके अधीनस्थ सभी अधिकारियों व कर्मचारियों का डाटा पोलिंग डयूटी को लेकर बनाए गये ‘डाईस’ सॉफ््टवेयर के जरिये लिया जा रहा है।

22 अप्रैल को जारी होगी अधिसूचना 

ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि चुनाव को लेकर 22 अप्रैल को अधिसूचना जारी की जाएगी। उम्मीदवार 22 से 29 अप्रैल तक किसी भी कार्यदिवस पर प्रातः 10 बजे से सायं 3 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल कर पाएंगे।नामांकन उपायुक्त एवं निर्वाचन अधिकारी मंडी अथवा सहायक निर्वाचन अधिकारी मंडी के समक्ष प्रस्तुत किए जा सकेंगे।30 अप्रैल को नामंाकन पत्रों की जांच की जाएगी, 2 मई को प्रातः 10 बजे से सायं 3 बजे तक नाम वापिस लिए जा सकते हैं। 2 मई को नाम वापिस लेने की समयावधि पूर्ण होने के उपरांत उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी जाएगी। 19 मई को वोट डाले जाएंगे। परिणाम की घोषणा 23 मई को मतगणना के उपरांत निर्वाचन अधिकारी मंडी करेंगे।

20 बूथ ऐसे जहां महिलाओं पर ही होगा मतदान करवाने का पूरा जिम्मा 

उन्होंने कहा कि जिला के हर विस क्षेत्र में दो बूथ ऐसे भी होंगे जहां मतदान करवाने का पूरा जिम्मा महिलाओं पर ही होगा। जिला में ऐसे 20 बूथ बनाए गए हैं। लोकतंत्र की मजबूती में सभी की भागीदारी जरूरी है। प्रशासन निर्वाचन प्रक्रिया में दिव्यांगों, बुजुर्गों एवं महिलाओं को सक्रियता से जोड़ने के लिए सहूलियतें प्रदान करने एवं सुविधाजनक माहौल प्रदान करने पर जोर दे रहा है। मतदान केंद्रों पर सुविधाओं का स्तर बढ़ाया गया है।

‘सी-विजिल’ से रखेंगे से नजर

ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन और चुनावी खर्चे से जुड़ी शिकायतों के त्वरित निपटारे के लिए ‘सी-विजिल’ एप  की मदद ली जाएगी। सभी लोग एंड्रॉयड फोन पर इस एप को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके जरिये आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन और रुपयों के लेनदेन की शिकायत मौके से साक्ष्य के साथ भेजी जा सकेगी। सी-विजिल एप में वीडियो-फोटो के साथ दर्ज शिकायत का अधिकतम 100 घंटे के भीतर निपटारा तय बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हर विधान सभा क्षेत्र में 3-3 उड़न दस्ते बनाए गए हैं, जो चौबीसों घंटे आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़े मामलों में कार्रवाई लेंगे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन से सम्बन्धित अपनी किसी भी प्रकार कि जानकारी, शिकायत एवं सुझाव के लिए टोल फ्री नम्बर 1950 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here