स्वास्थ्य मंत्री ने टांडा में राष्ट्रपति के दौरे की तैयारियों का लिया जायजा
आदर्श हिमाचल 
धर्मशाला:-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि हिमाचल में राज्य सरकार की विभिन्न स्वास्थ्य बीमा योजनाओं को एक योजना के तहत लाकर ‘हिम केयर’ नाम दिया जाएगा। इन योजनाओं के तहत निर्धारित बीमा कवर राशि को बढ़ा कर आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर 5 लाख रुपए किया जाएगा। सरकार ने इसे लेकर कार्ययोजना बना ली है। हिम केयर में कार्ड बनाने के लिए लोक मित्र केंद्रों की सहायता ली जाएगी, इसके अलावा प्रदेश की स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत बने कार्डों को भी इसके तहत बदला जाएगा।
परमार डॉ. राजेंद्र प्रसाद चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल टांडा में रोगी कल्याण समिति के सदस्यों के साथ आयोजित बैठक में बोल रहे थे।
         उन्होंने अस्पताल प्रबंधन, डॉक्टरों एवं अन्य स्टाफ का एक टीम की तरह मिलकर कार्य करने का आह्वान किया ताकि संस्थान को लेकर समाज में सकारात्मक संदेश जाए। उन्होंने सभी को अपनी जिम्मेदारी समझने और संवेदनशीलता के साथ लोगों की सेवा में तत्पर रहने को कहा।
286 लोगों ने लिया आयुष्मान भारत योजना का लाभ

स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को सरकार प्रायोजित दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना बताते हुए कहा कि इससे देश के लगभग 50 करोड़ आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों को हर साल पांच लाख रूपये का स्वास्थ्य बीमा कवर मिलेगा। उन्होंने कहा कि योजना के शुरू होने से अब खराब स्वास्थ्य के कारण खर्चे के चलते ईलाज को टालने और ईलाज पर आर्थिक संकट में घिरना जैसी घटनाएं अब गुजरे जमाने की बात हो जाएंगी।

           उन्होंने कहा कि टांडा अस्पताल में 286 लोग आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त कर चुके हैं। इसके अलावा 11 अन्य अभी अस्पताल में उपचाराधीन हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना से कांगड़ा जिला के लगभग डेढ़ लाख परिवार लाभान्वित होंगे, जिसका अर्थ है कि यहां करीब साढ़े 6 से 7 लाख तक की आबादी को योजना का सीधा लाभ मिलेगा
4.50 करोड़ रुपए लागत से छात्रावास तैयार, मुख्यमंत्री करेंगे उद्घाटन
         परमार ने कहा कि महाविद्यालय में 4.50 करोड़ रुपए लागत का छात्रावास बन कर तैयार हो चुका है और वे जल्द ही मुख्यमंत्री से इसके उद्घाटन के लिए निवेदन करेंगे। इसके साथ ही 5 करोड़ की लागत से बनने वाले कन्या छात्रावास की आधारशिला भी रखी जाएगी।
स्टाफ नर्स की मौत मामले की होगी मजिस्ट्रेट जांच
          स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि टांडा अस्पताल की स्टाफ नर्स के आग में झुलसने  पर उपचाराधीन रहते मृत्यु के मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि लापरवाही पाए जाने पर दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।
इसके अलावा कुछ माह पहले के नगरोटा बगवां की एक लड़की के सर्पदंश के उपरांत टांडा अस्पताल में उपचार करवाते मृत्यु के मामले में जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। इसके अध्ययन कर दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
राष्ट्रपति के दौरे को लेकर तैयारियां का लिया जायजा
                    इससे पहले, स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के 29 अक्तूबर को डॉ. राजेंद्र प्रसाद चिकित्सा महाविद्यालय टांडा के दीक्षांत समारोह में शामिल होने को लेकर की गई तैयारियों का जायजा लिया। यह कार्यक्रम महाविद्यालय के सरदार सोभा सिंह सभागार में आयोजित किया जाएगा।
                उन्होंने पुलिस महानिदेशक उत्तरी क्षेत्र अतुल फुलझेले, उपायुक्त संदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल, प्रधानाचार्य भानू अवस्थी, चिकित्सा अधीक्षक गुदर्शन गुप्ता व महाविद्यालय प्रबंधन के अन्य पदाधिकारियों के साथ टांडा में बैठक की। इस दौरान उन्होंने दौरे से जुड़ी सभी प्रकार की तैयारियों पर चर्चा करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिए । उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को निर्देश दिए कि वे यह सुनिश्चित बनाएं कि दौरे के समय अस्पताल आने वाले लोगों को किसी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए सभी संभव उपाय एवं अग्रिम व्यवस्था की जाए।
              बैठक में राष्ट्रपति महोदय एवं उनकी धर्मपत्नी के आगमन कार्यक्रम को लेकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। स्वास्थ्य मंत्री ने दौरे की सफलता के लिए सभी अधिकारियों-कर्मचारियों से पूरी ईमानदारी से अपने कर्तव्य का निर्वहन करने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों-कर्मचारियों को जो दायित्व सौंपे गए हैं, उन्हें सही तरीके से निभाएं
             बैठक में सभी अधिकारियों ने जिला एवं पुलिस प्रशासन एवं महाविद्यालय प्रबंधन ने अपनी तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
बैठक के उपरांत स्वास्थ्य मंत्री ने सभी अधिकारियों के साथ सभागार का निरीक्षण कर समारोह स्थल में अतिथियों, अधिकारियों-कर्मचारियों आदि के बैठने की व्यवस्था का भी जायजा लिया।
            बैठक में डॉ. राजेंद्र प्रसाद चिकित्सा महाविद्यालय टांडा प्रशासनिक अधिकारी सुनयना शर्मा, एसडीएम कांगड़ा शशीपाल नेगी, एसडीएम नगरोटा बगवां अंकुश शर्मा सहित महाविद्यालय प्रबंधन एवं अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here