जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक का आयोजन  
आदर्श हिमाचल ब्यूरो
बिलासपु:- सरकार की जनकल्याणकारी एवं विकासात्मक योजनाओं को पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने के लिए सभी अधिकारी आपसी समन्वय व पूर्ण कर्तव्यनिष्ठा से अपने दायित्वों का निर्वहन करें ताकि अधिक से अधिक लोग उनका लाभ उठा कर लाभान्वित हो सके।  यह उद्गार हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद अनुराग ठाकुर ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रकट किए।  उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं का पूरा फोकस आमजन पर केन्द्रित है जिन्हें हर संभव प्रयास करके विकास की राह से जोड़ना है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों को ग्रामीण स्तर तक पहुंचाने के शिविरों का आयोजन करें ताकि अधिक से अधिक पात्र लोग इन योजनाओं एवं कार्यक्रमों से फायदा उठा सके।
                    उन्होंने अधिकारियों को आहवान किया कि वे नियमित रूप से फील्ड में जाएं तथा क्रियान्वित की जा रही योजनाओं की फीड-बैक ले ताकि धरातल पर योजनाओं व कार्यक्रमों के क्रियान्वयन को लेकर आ रही कठिनाइयों व समस्याओं का समाधान संभव बनाया जा सके।
उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत केन्द्र सरकार ने देश के लगभग 10 करोड़ गरीब परिवारों की लगभग 50 करोड़ आबादी को 50 हजार से 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य बीमा योजना के  लाभ का प्रावधान किया है।  उन्होंने कहा कि इस योजना के माध्यम से जिला बिलासपुर के 37 हजार 899 लोगों को लाभान्वित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला में 9 हस्पताल पैनल किए गए है जहां पर इस योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस योजना को अधिक से अधिक प्रचारित करें ताकि कोई भी पात्र व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने से वंचित न रहे।
                      उन्होंने विभागों के माध्यम से चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का पत्रक तैयार करके ग्रामीण स्तर तक वितरित करने का भी आहवान किया ताकि सरकारी योजनाओं को घर-घर तक पहुँचाया जा सके।  उन्होंने बैंकिग सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए इंडिया पोस्ट पेमेंटस बैंक की सुविधा का उल्लेख करते हुए कहा कि यह योजना देश के 650 डाकघरों और 3250 एक्सेस पाइंट पर एक साथ आरंभ की गई है।  उन्होंने बताया कि इस सुविधा से मात्र एक फोन काॅल पर डाक सेवक उपभोक्ता के घर पहुंच कर 5 हजार रूपए तक का भुगतान पोस्ट बैंक खाते से आसानी से उपलब्ध करवा रहा है।
उन्होंने बताया कि बिलासपुर में 5 एक्सेस पाइंट बनाए गए है जहां पर कैश जमा करवाने, निकालने तथा अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है।
उन्होंने जिला के असुरक्षित स्कूल भवनों को गिराने के लिए लोक निर्माण विभाग तथा शिक्षा विभाग को आपसी समन्वय से शीघ्र कार्य करने के दिशा निर्देश दिए ताकि भवनों का पुन निर्माण कार्य करवाने के लिए प्रक्रिया शुरू की जा सके। उन्होंने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि असुरक्षित भवनों में किसी भी स्तर पर कक्षाएं न चलाई जाए।
            उन्होंने घुमारवीं में बनने वाले केन्द्रीय विद्यालय के भवन के लिए शीघ्र भूमि चयनित करने तथा अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश भी दिए।  उन्होंने कहा कि जिला में जहां भी स्कूलों में कमरो की कमी है वहां पर अधिकारी जाकर निरीक्षण करें तथा उसकी रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित बनाएं ताकि नए कमरो का निर्माण की प्रक्रिया आरंभ करवाई जा सके।
           उन्होंने घुमारवीं में लगभग 10 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले मातृ शिशु अस्पताल और 10 करोड 9 लाख़ की लागत से निर्मित हाने वाले  आईपीडी ब्लाक की भी सभी औपचारिकताएं पूर्ण करने के भी निर्देश दिए ताकि इनका निर्माण कार्य शीघ्र आरंभ किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के बारे में चारों विधानसभा क्षेत्रों में शिविर लगाना सुनिश्चित करें ताकि अधिक से अधिक लोग इन योजनाओं से लाभान्वित हो सके। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित अधिकारी राष्ट्रीय उच्च मार्ग, रेलवे और फौरलेन से सम्बन्धित मामलों की हर 15 दिन में समीक्षा बैठक आयोजित करे ताकि कार्य में प्रगति लाई जा सके।

उन्होंने बताया कि जिला में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 5868 गैस कुनेक्शन वितरित किए जा चुके है जबकि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत 1413 निशुल्क गैस वितरित किए जा चुके है। इस अवसर पर दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति, प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री सड़क योजना, सामाजिक सुरक्षा पैंशन, काॅमन सर्विस सैंटर, सांसद आदर्श गांव, प्रधानमंत्री स्वावलंबन योजना, मिड डे मील, श्वेत व नील क्रांति, आखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, गोबिंद सागर कृत्रिम झील, सामाजिक सुरक्षा पैंशन, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, मनरेगा, विद्युतिकरण, पर्यटन सहित लगभग चालिस विभिन्न योजनाओं की विस्तृत रूप से समीक्षा की गई।

           इस अवसर पर स्थानीय विधायक सुभाष ठाकुर, पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विनय कुमार, एसडीएम सदर (भा.प्र.से) प्रियंका वर्मा, एसडीएम झंडूता नवीन शर्मा, एसडीएम स्वारघाट अनील चैहान, सीएफ बिलासपुर आर.एम पटियाल, सहायक आयुक्त उपायुक्त सिद्धार्थ आचार्य, एससी विद्युत ई0 एल.एस ठाकुर, उपनिदेशक एवं जिला परियोजना अधिकारी संजीत सिंह, जिला के खण्ड विकास अधिकारी, नगर परिषद अध्यक्ष सोमा देवी, एनजीओ सदस्य जोराबर सिंह, पूर्व जिला परिषद सदस्य प्रोमिला सहित सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here