आदर्श हिमाचल ब्यूरो
 
धर्मशाला:-सरदार वल्लभ भाई पटेल देश की एकता के सूत्रधार और आधुनिक भारत के निर्माता थे। भारत के विकास और राजनीतिक इतिहास में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। यह विचार शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीन चौधरी ने आज शाहपुर के लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह में प्रथम गृहमंत्री व उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की 143वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करते हुये व्यक्त किये।
        शहरी विकास मंत्री ने कहा कि सरदार पटेल राष्ट्रीय एकता के बेजोड़ शिल्पी थे। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के संघर्ष तथा स्वतंत्र भारत को एकजुट करने में उनका योगदान अविस्मरणीय है। उन्होंने बताया कि पटेल एक अनुभवी प्रशासक थे तथा उनकी निष्ठा और ईमानदारी को आज भी विश्व में जाना जाता है।
       सरवीन ने बताया कि सरदार पटेल लोगों, विशेषकर गरीब और वंचित वर्ग के हितों की रक्षा को अपना प्रथम दायित्व समझते थे। उन्होंने कहा कि वे देश के आर्थिक और औद्योगिक विकास के विजन वाले नेता थे। सहकारिता क्षेत्र को मजबूत करने व महिलाओं को सशक्त बनाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान आज भी दिखता है।
      इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने शाहपुर विश्राम गृह से ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिसमें शहरी विकास मंत्री के साथ विभिन्न स्कूलों के बच्चों व स्थानीय लोगों  ने भाग लिया। यह एकता दौड़ विश्राम गृह से आरम्भ होकर 39 मील से सिहोलपुरी होते हुए शाहपुर में सम्पन्न हुई।
     इस अवसर पर अधिशाषी अभियंता संजीव महाजन, रूमेल सिंह, मंडलाध्यक्ष अश्वनी चौधरी, महामंत्री प्रीतम चौधरी, एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष गुरमीत सिंह, वीरभूमि कोचिंग केन्द्र के निदेशक कमांडेंट मोहिन्द्र कुमार सहित भाजपा नेता तिलक शर्मा, दीपक अवस्थी, रजनी ठाकुर, योगराज, राकेश चौहान, रघुवीर सिंह, रविन्द्र, बबलू व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here